Ads

यहां तो 14 साल के बच्चे ही पीते-पिलाते दिखते हैं (कार्टून)

>> Monday, August 9, 2010

16 comments:

narottam August 9, 2010 at 5:10 AM  

सही बात है अजय भाई

narottam August 9, 2010 at 5:12 AM  

शिक्षा का अधिकार लागू होने के बाद भी छत्तीसगढ़ में ये सीन जगह-जगह दिखलाई देता है..

nonsense times August 9, 2010 at 5:22 AM  

वाकई यहां के ढाबों में यही सब देखने मिलते है....

'उदय' August 9, 2010 at 7:23 AM  

...bhaavpoorn abhivyakti !!!

ललित शर्मा August 9, 2010 at 12:20 PM  

ये कौन सा ढाबा है? किसका जिक्र है?

ललित शर्मा August 9, 2010 at 12:21 PM  

बहुत बढिया चुटकी ली है भाई साब

आपको बहुत बहुत शुभकामनाएं

ललित शर्मा August 9, 2010 at 12:22 PM  

एक बात तो पूछना भूल ही गया
हमारे पुज्यनीय गुरुदेव अवधिया जी कहां हैं?

arvind August 10, 2010 at 12:55 AM  

sahi chitran...acchha caartun.

SAMEER August 10, 2010 at 4:21 AM  

बाल श्रम कानून पर करारा प्रहार है ....बधाई हो अजय भाई..

राजीव कुमार कुलश्रेष्ठ August 10, 2010 at 6:22 PM  

क्या कहने साहब
जबाब नहीं निसंदेह
यह एक प्रसंशनीय प्रस्तुति है
satguru-satykikhoj.blogspot.com

छत्तीसगढ मीडिया क्लब August 18, 2010 at 8:25 PM  

सुन्दर पोस्ट, छत्तीसगढ मीडिया क्लब में आपका स्वागत है.

Sanjeet Tripathi September 6, 2010 at 11:29 AM  

ekdam satik, jabardast bhai sahab, aaj der shaam diwakar muktibodh aur mai kaafi der tak isi sab mudde par lambi baatein karte rahe....aur abhi ye dekha aapka cartoon, bahut hi sahi hai.

Post a Comment

indali

Followers

  © Blogger template Simple n' Sweet by Ourblogtemplates.com 2009इसे अजय दृष्टि के लिये व्यवस्थित किया संजीव तिवारी ने

Back to TOP