Ads

हमको कौन रोकेगा

>> Sunday, February 14, 2010

3 comments:

Anil Pusadkar February 14, 2010 at 7:45 AM  

वाह अज्जू ये वाली बाईक एक चक्कर मुझे भी चलाने देना,शायद कोई उतनी अच्छी ना सही थोड़ी खराब ही सही पीछे बैठ जाये।हा हा हा हा हा,मज़ा आ गया।

श्याम कोरी 'उदय' February 15, 2010 at 7:41 AM  

... बहुत खूब,दिलचस्प !!!

Post a Comment

indali

Followers

  © Blogger template Simple n' Sweet by Ourblogtemplates.com 2009इसे अजय दृष्टि के लिये व्यवस्थित किया संजीव तिवारी ने

Back to TOP